पत्रकार की पिटाई के बाद चेहरे पर पेशाब का आरोप, GRP का SHO और कॉन्स्टेबल सस्पेंड, वीडियो वायरल

0
436
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

शामली : शामली जिले में पटरी से उतरी मालगाड़ी की कवरेज करने गए एक पत्रकार की पिटाई करने के आरोपी जीआरपी एसएचओ राकेश कुमार और कॉन्‍स्‍टेबल संजय पवार को सस्‍पेंड कर दिया गया है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा है कि आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। इन दोनों पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि उन्‍होंने पत्रकार अमित शर्मा के साथ बदसलूकी की और उसके साथ अमानवीय कृत्य किए।

इसे भी पढ़ें :- बिन ब्लाउज साड़ी में प्रियंका चोपड़ा ने कराया फोटोशूट, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ विडियो, दो दिन में ढाई लाख बार देखा

उत्तर प्रदेश के शामली में रेलवे पुलिस (GRP) के कर्मियों पर आरोप है कि उन्होंने एक निजी चैनल के पत्रकार की पिटाई की। पत्रकार ने यह भी आरोप लगाया है कि बाद में उसे लॉकअप मे बंद करके नंगा किया गया और उसके मुंह पर पेशाब की गई। मामला सामने आने के बाद पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह के आदेश पर GRP के SHO राकेश कुमार और एक कॉन्स्टेबल को निलंबित कर दिया गया है। इन दोनों के ऊपर पत्रकार अमित शर्मा से बदसलूकी का आरोप है।

इसे भी पढ़ें :-  GRP पुलिस ने की पत्रकार की पिटाई, पुलिस की खुलेआम गुंडागर्दी, पूरी पिटाई और मामले का वीडियो वायरल

पत्रकार ने आरोप लगाया कि वह मंगलवार रात को धिमानपुरा के पास मालगाड़ी के पटरी से उतरने की रिपोर्ट तैयार कर रहा था। उसी समय सादी वर्दी में GRP के कर्मी आए और कैमरा तोड़ दिया। पत्रकार ने कहा कि पुलिस ने उसकी बात नहीं सुनी और उसे पीटते रहे। पत्रकार ने कहा कि बाद में उन्होंने लॉकअप में बंद करके पीटा, गालियां दी, नंगा किया और मुंह पर पेशाब तक कर दिया। घटना की जानकारी मिलने पर कई पत्रकार थाने पहुंचे और सोशल मीडिया पर अमित शर्मा की पिटाई का वीडियो फुटेज डाल दिया।
https://twitter.com/Uppolice/status/1138659312643891201

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पत्रकारों ने पुलिस मुख्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों से भी संपर्क किया। इसके बाद आला अधिकारियों ने हरकत में आते हुए स्टेशन हाउस अधिकारी राकेश कुमार और जीआरपी के एक कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है और घटना की जांच का आदेश दिया गया है। पत्रकार अमित शर्मा को बाद में छोड़ दिया गया। शामली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडे ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों को इस घटना से अवगत कराया गया है, जो ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ थी और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

कोई जवाब दें