पत्रकारों के साथ बड़ोदरा आरपीएफ की बदमीजाजी पत्रकारों ने किया विरोध, आइसना के प्रदेश अध्यक्ष विनय डेविड लेटे रेल की पटरी पर

0
740
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

  • पत्रकारों के साथ बड़ोदरा आरपीएफ
  • प्रदेशाध्यक्ष विनय डेविड पत्रकारों के साथ बैठे पटरियों पर

बड़ोदरा. नेशनल मिडिया कांन्फ्रेंस माऊंट आबू से वापस आ रहे भोपाल के पत्रकारों के दल के साथ गुजरात के बड़ोदरा रेल्वे स्टेशन पर आर.पी.एफ.आरक्षक बाबूलाल व्दारा जबरदस्ती गाड़ी क्रमांक 11463 सोमनाथ एक्सप्रेस से उतारकर आर.पी.एफ.थाने मे ले जाकर अभ्रद व्यवहार किए जाने से रूष्ठ पत्रकारों द्वारा बड़ोदरा स्टेशन के आउटर पर हंगामा किया गया ।

जिससे सोमनाथ एक्सप्रेस करीब एक घंटा खड़ी रही । गार्ड द्वारा समझाईश के पश्चात भी पत्रकार अपने साथी दैनिक प्रदेश बाद संपादक सत्यनारायण राजपूत निवासी जबलपुर को बगैर शर्त छोड़ने की मांग पर अड़े रहे । ततपश्चात वरिष्ठ अधिकारियों के हस्तक्षेप पश्चात पत्रकार साथी को तत्काल छोड़ कर गाड़ी आगे गंतव्य को रवाना की गई ।

मालूम हो कि वड़ोदरा जंक्शन पर पत्रकार साथी छूट गया था और गाड़ी आगे रवाना हो गई थी। जिससे नाराज आर.पी.एफ. आरक्षक बाबूलाल द्वारा पत्रकार सत्यनारायण को गाडी से उतार कर जबरजस्ती आर.पी.एफ. ने बिना जानकारी दिए परिवार को थाने ले जाकर अभ्रदता की गई, और ट्रेन आगे रवाना करवा दी। गाड़ी में पत्रकार राजपूत की पत्नी और बैठे पत्रकारों को जानकारी आऊटर पर मालूम होने पर गाड़ी की चैन पुलिंग की गई ।

जबकि नियमानुसार गाडी मे ही संबंधित टीसी चालानी कार्यवाही कर सकता था। परन्तु बड़ोदरा आर.पी.एफ. द्वारा तानाशाही तरिके से जबरदस्ती की जाने से हजारों यात्रियों को ट्रेन लेट होने का खामियाजा भुगतना पड़ा। पत्रकारों के दल मे आईसना के प्रदेशाध्यक्ष विनय डेविड सहित महासचिव प्रशात बैश, प्रदेश सचिव राजेश रजक शामिल रहे ।

कोई जवाब दें