नियमित रूप से शुरू कराएं बीएसडब्ल्यू की कक्षाएं, राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम छात्रों ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

0
273
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ ढीमरखेड़ा जिला कटनी // रमेश कुमार पांडे : 95895 76205

ढीमरखेड़ा :-  विकासखंड ढीमरखेड़ा में बीएसडब्ल्यू की पढ़ाई कर रहे छात्रों ने मंगलवार को ढीमरखेड़ा एसडीएम देवकीनंदन सिंह को राज्यपाल आनंदी बेन और मुख्यमंत्री कमलनाथ के नाम ज्ञापन सौंपा। बीते एक माह से बंद पड़ी कक्षाओं को नियमित रूप से चालू कराने की मांग की है।

बीएसडब्ल्यू के छात्रों ने एसडीएम को सौंपे गए ज्ञापन में बताया कि मध्यप्रदेश शासन ने वर्ष 2015 में महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्व विद्यालय के माध्यम से मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व क्षमता विकास पाठ्यक्रम अन्तर्गत बैचुलर ऑफ सोशल वर्क (बीएसडब्ल्यू)कोर्स शुरू किया।मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद (योजना आर्थिक एवम सांख्यिकी विभाग)द्वारा समूचे प्रदेश में जिले के प्रत्येक विकासखंड स्तर पर हर रविवार को कक्षाओं का संचालन किया जाता है।कोर्स कर रहे छात्र समाज कार्य के क्षेत्र में कार्य करते हैं।शासन द्वारा समाज कार्य स्नातक की डिग्री भी उपलब्ध कराई जाती है।

छात्रों ने बताया कि ढीमरखेड़ा विकासखंड के करीब 120 छात्र- छात्राएं बीएसडब्ल्यू में अध्ययनरत है। बीते जनवरी के माह से कक्षाओं का संचालन नहीं किया जा रहा है।जिससे छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हो रही हैं।लगातार कक्षाओं का संचालन नहीं होने से सत्र 2018-19 में परीक्षाएं भी नहीं हो पा रही हैं।जिससे छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। अपने भविष्य के देखते हुए छात्रों ने सीएम और राज्यपाल के नाम देकर बीएसडब्ल्यू की कक्षाओं का संचालन विधिवत कराने की मांग की है।छात्रों ने बताया कि कटनी जिले में करीब सात सौ छात्र और समूचे प्रदेश भर में 40 हजार छात्र छात्राएं बीएसडब्ल्यू की पढ़ाई कर रहे हैं। इस दौरान बीएसडब्ल्यू के छात्र कोदुलाल, प्रकाशनाथ,अंकित, रंजीत,पंकज,धीरज,शिवानंद, शिखा,रेशमा,सरस्वती, रितु, ज्योति, रोशनी, सुरुचि, शोभना, सृष्टि, शालिनी, अनकेता सिंह, सरिता, नीतू, निधि, लक्ष्मी,सीता,सपना ,रोशनी,प्रदीप, देवराज,वीरेन्द्र, गोपाल सिंह,नंदलाल,ओमकार,आलोक,देव,कांता, अन्नपूर्णा सहित अन्य छात्र-छात्राओं की उपस्थिति रहीं।

इनका कहना

विधिवत आप लोगों की समस्यायों एवं मांग को माननीय मुख्यमंत्री जी के पास शीघ्र समाधान हेतु पहुंचा दिया जायेगा।

अनुविभागीय अधिकारी ढीमरखेड़ा देवकीनंदन

कोई जवाब दें