नागदा : Lanxess industry में हो सकता था बड़ा हादसा, धड़ाम से गिरी 150 फिट ऊँची चिमनी

0
232
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा । शहर में शाम को एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया. शाम 4 बजे आए आंधी-तूफान से LANXESS उद्योग के भीतर एक चिमनी गिर गई गनीमत रही कि घटना के समय मौके पर कोई भी श्रमिक वहा नहीं था। रविवार को अवकाश होने की वजह से उक्त प्लांट मे एक दो ही श्रमिक थे, जो चिमनी से काफी  दूरी पर थे।

सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार उद्योग के कोजन (पावर प्लांट)प्लांट में लगभग 150 फीट ऊंची चिमनी धराशयी हो गई । यह चिमनी एस एस के उपकरण की बनी थी जो काफी पुरानी हो गई थी। तेज हवा चलने से चिमनी लटकी गई । घटना की जानकारी मिलते ही LANXESS उद्योग प्रबंधन हरकत में आया और मौके पर पहुंचा।

प्रशासन की टीम भी मौके पर पहुंची और पंचनामा बनाया। राजस्व विभाग के अधिकारि व बिरलाग्राम पुलिस ने शाम 5.30 बजे मौका मुआएना कर पंचनामा बनाया । उद्योग में लगभग 2 माह पूर्व भी इस तरह की घटना हुई थी ।गनीमत थी कि उस समय चिमनी छोटी थी जो अन्य चिमनी पर टिक गई थी। जिस प्लांट में चिमनी गिरी उस प्लांट में भूसा (बायोमास) जलाकर बिजली का उत्पादन किया जाती है।

बड़ा हादसा टला

इस घटना से गनीमत रही कि कोई जनहानी नहीं हुई। जिस स्थान पर यह चिमनी गिरी वहां पर कार्यदिवस के दिन 24 घंटे लगभग 25 से 30 ठेकाश्रमिक चिमनी के ही निचे कार्य करते है। परंतु रविवार को कार्य ना के बराबर होता है।

प्रतिदिन उक्त स्थान पर भूसे (बायोमास) के ट्रक भी आते है । पूरे उद्योग परिसर में कई जहरीली गैस की पाइप लाइन गुजर रही है । ऐसे में यदि चिमनी किसी पाइप लाइन पर गिर जाती और पाइप लाइन लिकेज हो जाती तो उद्योग ओर उद्योग के आसपास रहवासी इलाको मे भी बड़े हादसे से इंनकार नही किया जा सकता था।

सूत्रो से मिली जानकरी के अनुशार बताया जा रहा है कि चिमनी काफी पुरानी हो गई थी, उद्योग प्रबंधन द्वारा समय पर देखरेख नहीं करने व मरम्मत नहीं करने से चिमनी जर्जर हो चुकी थी जिससे तेज हवा से वह धराशयी हो गई।

सवाल ये भी उठता है की अभी डेढ माह पहले ही सुरक्षा जाच की गई थी तो जाच कर्ता ने इस चिमनी को क्यो नजर अंदाज कर दिया। उद्योग ने लापरवाही दबाने के लिए किसी भी मीडियाकर्मी को उद्योग परिसर में जाने नही दिया।

कोई जवाब दें