नागदा को जिला बनाने की कार्रवाई में कलेक्टर ने मांगी जानकारियां

0
135
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा को जिला बनाने के लिए एक बार फिर कार्रवाई हुई प्रारंभ । मंगलवार को कलेक्टर उज्जैन ने नागदा, खाचरौद एवं महिदपुर के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को इस मामले में तथ्यात्मक जानकारी शीघ्र भेजने के लिए आदेशीत कीया है। इन जानकारियों को एक निश्चित प्रोफार्मा में मांगा गया है।

नागदा एसडीएम श्री आरपी वर्मा ने एएनआई संवाददाता नागदा  से चर्चा में बताया कि नागदा को नवीन जिला बनाने के लिए कलेक्टर से मंगलवार को मिले निर्देश में जानकारियां मांगी है। इन जानकारियों को बुधवार को ही कलेक्टर के समक्ष भेजा जा रहा है।

बताया जा रहा है कि कलेक्टर ने जो अनुविभागीय अधिकारियों के नाम पत्र जारी किया उसमे स्पष्ट लिखा है कि इन सभी जानकारियों को 12 जून को ही विशेष पत्रवाहक के साथ भेजा जाए, ताकि उच्च स्तर पर प्रशासन को जानकारियों से अवगत कराया जा सके।

इनका क्या कहना है जाने :- एसडीएम श्री आरपी वर्मा

जो जानकारिया मांगी गई हैं, उनमें रतलाम जिले की आलोट तहसील को भी शामिल किया जा रहा है। इस तहसीलों का शामिल करने से कितने गांव नवीन जिले में शामिल होंगे। कितने स्कूल, कॉलेज तथा पंचायतें समावेश हो सकेगी आदि ब्यौरा मांगा गया है।

गौरतलब है कि वर्ष 2009 से तत्कालीन कांग्रेस विधायक दिलीपसिंह गुर्जर ने इस मामले में पहल की थी। उसके बाद नवीन जिला बनाने के लिए परीक्षण भी कराया गया था। लेकिन मई 2012 में यह प्रस्ताव इस टीप के साथ राजस्व विभाग ने खारिज कर दिया था कि नागदा को जिला बनाने के लिए कोई तथ्य उभर कर सामने नहीं आ रहे है इसलिए प्रस्ताव निरस्त किया जाता है।

वर्ष 2014  के विधान सभा चुनाव में इस मसले को उठाने वाले विधायक गुर्जर चुनाव हार गए थे। अबकि बार जो विधानसभा चुनाव लड़ा गया उसमे कांग्रेस उम्मीदवार दिलीप सिंह  गुर्जर ने जनता को भरोसा दिलाया था कि वे नागदा को जिला बनाएंगे।  और वे चुनाव जीत भी गए।अब देखना है कि नागदा को कब तक जिले की सौगात मिल सकेगी।

 

कोई जवाब दें