नसीरुद्दीन शाह के बयान पर अनुपम खेर ने तंज कसते हुए पूछा, ‘और कितनी आजादी चाहिए?’

0
280
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

मुंबई: अभिनेता अनुपम खेर ने नसीरुद्दीन शाह के देश में डर के माहौल वाले बयान पर पलटवार किया। उन्होंने कहा कि देश में इतनी आजादी है कि आप सेना को गालियां दे सकते हैं, वायुसेना प्रमुख को बुरा भला कह सकते हैं और जवानों पर पत्थर फेंक सकते हैं। देश में और कितनी आजादी चाहिए? उन्होंने कहा कि यह जरूरी नहीं कि वे (शाह) जो महसूस कर रहे हैं, वो सही ही हो।

दरअसल, नसीरुद्दीन शाह ने एक इंटरव्यू में कहा था, कई जगहों पर पुलिस अफसर से ज्यादा गाय की हत्या को महत्व दिया जा रहा है। देश में जहर फैल चुका है, लोगों को कानून अपने हाथों में लेने की खुली छूट मिल गई है। इस बात की फिक्र होती है कि हालात जल्दी सुधरते नजर नहीं आ रहे।

नसीरुद्दीन शाह ने देश में मुस्लिमों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था, ‘एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत से ज्यादा एक गाय की मौत को अहमियत दी जा रही है और ऐसे माहौल में मुझे अपनी औलादों के बारे में सोचकर फिक्र होती है। वह कहते हैं कि देश के माहौल में काफी जहर फैल चुका है और इस जिन्न को बोतल में डालना मुश्किल दिख रहा है।’

‘मुझे डर लगता है कि कल को मेरे बच्चे बाहर निकलेंगे तो भीड़ उन्हें घेरकर पूछ सकती है कि तुम कौन हो? हिंदू या मुसलमान? ऐसे में वह क्या जवाब देंगे? इस स्थिति में सुधार की जरूरत है और जिन्न को बोतल में बंद करना होगा।’

एक इंटरव्यू के दौरान कही गई इन बातों का विडियो नसीरुद्दीन शाह ने खुद भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया था, जिसके बाद उनकी आलोचना होना शुरू हो गई थी। इस विरोध के चलते अजमेर साहित्य महोत्सव में होने वाले ऐक्टर के कार्यक्रम को भी रद्द करना पड़ा था।

सिनेमा के टिकट पर जीएसटी दर कम किए जाने पर भी अनुपम खेर ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि ‘टिकट पर जीएसटी दरों को 18% से 12% किया जाना भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के लिए एक ऐतिहासिक कदम है। इस कदम का श्रेय पीएम नरेंद्र मोदी को जाता है। फिल्में न सिर्फ एंटरटेन करती हैं बल्कि टूरिजम को भी बढ़ावा देती हैं।’

मूवी टिकट पर जीएसटी कम किए जाने को लेकर बॉलिवुड ने भी अपनी खुशी जाहिर की है। अक्षय कुमार और अजय देवगन ने इसके लिए पीएम को शुक्रिया कहा, वहीं प्रड्यूसर गिल्ड की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी कर इस कदम का स्वागत किया गया।

कोई जवाब दें