नशामुक्ति व स्वास्थ्य परीक्षण शिविर कार्यक्रम में सम्मिलित हुए मध्य प्रदेश शासन के जनसंपर्क मंत्री मा.पीसी शर्मा जी

0
493
Spread the love

BHOPAL : स्वप्रकाशाए सोशल वेलफेयर एंड एजुकेशन सोसायटी के पत्रिका विमोचन कार्यक्रम के अंतर्गत नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण/नशा मुक्ति शिविर व शासकीय योजनाओं के फॉर्म  वितरण कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम में अलग-अलग क्षेत्रों के समाजसेवियों को स्मृति चिन्ह व सम्मान पत्र भेंट कर उनका सम्मान किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में मध्य प्रदेश शासन के कैबिनेट मंत्री मा.पीसी शर्मा जी द्वारा संस्था सचिव ओपी मिश्रा जी द्वारा  किए गए सामाजिक  कार्यों के लिए  काफी सराहना की वह और आगे कार्यों को करने की प्रेरणा भी दी। साथ ही पार्षद प्रदीप मोनू सक्सेना सक्सेना जी भी उपस्थित रहे व पिछले 5 सालों में किए गए विभिन्न कार्यों की जानकारी दी।

पत्रकार दिलीप भदोरिया जी ने भी प्रदीप मोनू सक्सेना जी के कार्यों की सराहना की, ब्रिटिश इंस्टीट्यूट के संचालक विनय शर्मा जी ने भी अंग्रेजी शिक्षा पर जोर दिया, आरोग्य सेवा शोध संस्थान के संचालक नाड़ी वैध व पत्रकार-पं.विनोद मिश्रा जी ने कार्यक्रम संचालन किया,साथ ही इस कार्यक्रम में आए हुए लगभग 300 लोगों को  नि:शुल्क नशामुक्ति  दवा पिलाई व नाड़ी परीक्षण कर अच्छे स्वास्थ्य  की  बातें बताई और कहा की  आप लोग बीमार ही ना पड़े इसके लिए कुछ जरूरी दिनचर्या भी बताया जिससे  लोगों ने  काफी सराहना की और यह दिनचर्या अपनाने के लिए प्रण लिया।

साथ ही नाड़ी वैद्य पं. विनोद मिश्रा जी ने बताया कि  ऐसे आयोजन संस्था द्वारा समय-समय पर  होते रहते हैं  साथ ही सरकार को भी  नशामुक्ति हेतु शराब व गुटखा को  प्रदेश में  बंद करने की बात कही और नशामुक्ति के क्षेत्र में सरकार द्वारा और अधिक प्रयास की जरूरत है।

राष्ट्रीय पत्रकार संगठन ”ऑल इंडिया स्माल न्यूज पेपर एसोसिएशन” के प्रदेश अध्यक्ष विनय जी डेविड ने जनता के हितों के लिए पत्रकारों की भूमिका पर प्रकाश डाला व  यह भी बताया कि सरकार व जनता के बीच में पत्रकार की भूमिका एक सेतु के रूप में रहती है साथ ही पत्रकार सहयोगी संजय वर्मा, शिक्षक दिनेश श्रोती जी, श्रीमती पुष्पा शर्मा, लक्ष्मी यादव,फूलवती आमखरे,राधा राजपूत,अर्चना सोनी,लक्ष्मी भिड़े , शशिकांत मिश्रा (उपाध्यक्ष) ,केतकी मिश्रा (कार्यक्रम सहयोगी), चिकित्सकों की सहयोगी टीम में- डॉ.राजेश्वर तिवारी, डॉ.पुष्पा गुरु, डॉ.सुभान अली, आदि लोग विशेष रूप से सहयोगी रहे।

कोई जवाब दें