देर रात ऑटो चालक से जीआरपी के जवानों द्वारा मारपीट की घटना ने तूल पकडा , ऑटो चालक संघ की हड़ताल

0
664
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

  • ऑटो चालक ने लगाया जीआरपी पर मारपीट करने का आरोप
  • जीआरपी का जवाब आपसी विवाद में दिया गया मारपीट को अंजाम
  • ऑटो चालक संघ की हड़ताल हुई खत्म

नागदा जं.। देर रात ऑटो चालक के साथ हुई मारपीट की घटना ने एक नया तूल पकड़ लिया है। ऑटो चालक इसे जीआरपी के जवानों द्वारा मारपीट होना बता रहे हैं वही जीआरपी का तर्क है कि आपसी विवाद में मारपीट को अंजाम दिया गया है। 

इस घटना को लेकर ऑटो चालक संघ के द्वारा मारपीट के विरोध में हड़ताल की गई थी जिससे आम आदमी को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा

मामले पर एक नजर-

जीआरपी पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार जबलपुर सोमनाथ एक्सप्रेस में यात्रा के दौरान सीट पर बैठने की बात को लेकर दामोदर पिता कन्हैयालाल निवासी सागर का विवाद नागदा ऑटो चालक राजा से हो गया। जिसको लेकर इनके बीच मारपीट हुई थी। जिस पर दोनों पक्षों को समझाकर आपसी समझौता किया गया था।

पूर्व आटो अध्यक्ष ने लगाया जीआरपी पर आरोप-

इस मामले को लेकर अगले दिन सुबह ऑटो संघ के पूर्व अध्यक्ष खलील ने जीआरपी पुलिस पर आरोप लगाया कि रात की बात को लेकर जीआरपी के जवानों द्वारा मेरे साथ मारपीट की घटना को अंजाम दिया गया। इस मामले में ऑटो चालक राजा का कहना था कि मारपीट की घटना की शिकायत मेरे द्वारा जीआरपी पुलिस को की गई थी।

ऑटो चालक संघ के द्वारा मारपीट के विरोध में हड़ताल, देखें वीडियो 

जीआरपी का जवाब-

इस पूरे मामले में जीआरपी पुलिस ने कहा कि राजा और उसके साथियों के द्वारा ट्रेन में मारपीट के बाद रेलवे स्टेशन परिसर पर भी मारपीट की गई थी तो हमने इन्हें शांत कर इनका झगड़ा खत्म करवाया। इसके बाद इस मामले ने इतना तूल पकड़ा कि ऑटो चालक संघ ने हड़ताल कर दी और मांग यह रखी कि हमें न्याय मिले एवं दोषियों पर कार्रवाई हो। इसके बाद ऑटो चालक संघ के सदस्यों ने मण्डी थाने का भी घेराव किया एवं कार्रवाई को लेकर एक ज्ञापन भी मण्डी थाना प्रभारी श्यामचन्द्र शर्मा को सौंपा। इस पर मण्डी थाना प्रभारी का कहना था कि ये मामला जीआरपी पुलिस का है और वे ही इस पर कार्रवाई करेंगे।

इनका कहना-

’’मैं अभी शहर में आया हूं, ऑटो चालकों से चर्चा करके हड़ताल को खत्म करवाया गया है। सारे बिन्दुओं पर जांच कर सूचना बड़े अधिकारियों को पहुंचाकर संबंधित पर उचित कार्रवाई की जाएगी। पूरा मामला अभी जांच के दायरे में हैं।’’

इनका कहना देखें वीडियो – सुरेश बलराज, जीआरपी थाना प्रभारी, श्यामगढ़

दो जवानों के निलम्बन से हुई हड़ताल खत्म-

आॅटो चालकों की मांग को देखते हुए गुरूवार को दोपहर 1 बजे जीआरपी थाना प्रभारी, श्यामगढ़ सुरेश बलराज नागदा पहुंचे और उन्होंने ऑटो चालकों से बात कर दोषियों पर उचित कार्रवाई करने की बात कही साथ ही जीआरपी के दो जवानों को निलम्बित भी कर दिया, तब जाकर ऑटो चालकों ने हड़ताल को खत्म किया।

इनका गिरा मनोबल-

इस पूरे मामले में कौन अपराधी है और कौन फरियादी ये तो जांच का विषय है। लेकिन जीआरपी के जवानों के निलम्बन को लेकर हड़ताल का खत्म होना कहीं ना कहीं जीआरपी के मनोबल को गिराने का कार्य जरूर कर रहा है। जबकि जीआरपी का कहना है कि हमने तो दोनों ही पक्षों का समझौता करवाया है। अब देखना यह है कि यह मामला कहां तक जाता है?

कोई जवाब दें