ताप्ती तट पर कार सेवकों का हुआ सम्मान, कारसेवकों ने राम मंदिर निर्माण के लिए 9 दिन बिताएं थे जेल में

0
244
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल 

 

मुलताई। भगवान श्री राम की जन्मस्थली आयोध्या में मंदिर निर्माण के भूमि पूजन अवसर पर स्थानीय कार सेवकों का ताप्ती तट स्थित श्री राम मंदिर में बुधवार शाम 7 बजे मां ताप्ती उद्गम महाआरती समिति द्वारा शाल,श्री फल भेंट कर सम्मानित किया गया।

इन सभी कारसेवकों द्वारा 9 दिन जेल में बिताएं थे, जिसके बाद इनकी रिहाई हो पाई थी। इस अवसर पर कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए प्रमुख कारसेवक राजू पाटनकर ने बताया कि राम मंदिर आंदोलन के दौरान मुलताई क्षेत्र से तत्कालीन विधायक मनीराम बारंगे सहित 43 कारसेवक अयोध्या रवाना हुए थे । जिन्हें उत्तर प्रदेश की सरकार ने द्रवणगंज में ही गिरफ्तार कर जौनपुर जेल में बन्दी बना लिया गया था ।

जिन्हें 9 दिन बाद जेल से रिहा किया गया था,  इस दौरान कार सेवको को भारी कठनाइयों का सामना करना पड़ा था, लेकिन  किसी भी कार सेवक ने हार नहीं मानी थी, क्योकि सबका लक्ष्य केवल विवादित ढाँचा गिराकर भव्य राम मंदिर निर्माण का था। 1992 में ढाँचा गिरकर ध्वस्त हुआ और आज भव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन सम्पन्न हुआ है।

वरिष्ठ कार सेवक विश्वनाथ विहिते ने बताया कि इस आंदोलन का संघर्ष आजादी के आंदोलन से भी बड़ा था, क्योंकि हमे इसमें अपने लोगों से ही संघर्ष करना पड़ रहा था। आखिर 500 वर्षो के संघर्ष की जीत हुई। इस दौरान   हनी भार्गव , डॉ राजेन्द्र सिंह ठाकुर , संदीप भार्गव , हरीश पटेल आदि ने कार सेवकों का सम्मान किया। मंच संचालन मनीष माथनकर व आभार प्रदर्शन सचिन विश्वकर्मा ने किया।

कोई जवाब दें