डॉक्टर प्रियंका से गैंगरेप क जलाकर मार डाला, दिल दहलाने वाला अपराध, 4 आरोपी गिरफ्तार, अब खुलेंगे राज़

0
1668
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

रंगारेड्डी (तेलंगाना) । जिले के शादनगर में महिला वेटनरी डॉक्टर की गैंगरेप और जिंदा जला देने की बर्बर घटना में पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपितों में मोहम्मद पाशा, नवीन, केशवलू और शिवा शामिल है। मृतक महिला प्रियंका रेड्डी महबूबनगर जिले के नवाबपेट मंडल के कोल्लुरु स्थित सरकारी वेटनरी अस्पताल में डॉक्टर थीं।

शादनगर में महिला की स्कूटी पंक्चर होने के बाद शराब के नशे में धुत हमलावरों ने टोल प्लाजा के निकट के मैदान में घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने अपनी तहकीकात में पाया कि घटना में चार लोग शामिल थे जिनमें एक ट्रक ड्राइवर और तीन क्लीनर शामिल थे। इनपर महिला से रेप के बाद उसे जिंदा जलाकर मार डालने का आरोप है। मुख्य आरोपी मोहम्मद पाशा नारायणपेट जिले का निवासी है।

इसे भी पढ़ें :- टॉप ब्रांडेड कंपनी dr. Fixit और सर्वो का नकली इंजेन आयल बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश, बीजेपी पार्षद के संरक्षण में चल रहा था अवैध कारोबार

इत्तेफाक नहीं योजना बनाकर की गई स्कूटी पंचर, जांच मे खुलासा

पुलिस के मुताबिक, यह एक पूर्व नियोजित बलात्कार और हत्या का मामला है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने पीड़िता पर नजर रखी हुई थी। टोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पास पार्क की हुई प्रियंका की स्कूटी के टायर को जानबूझकर पंचर किया गया ताकि दरिंदे अपनी हवस मिटा सके। घटना वैसे ही हुई जैसे प्लानिंग की गयी थी, और प्रियंका अनजाने में आरोपियों के चंगुल में फंस गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट्स के अनुसार, शम्साबाद में आउटर रिंग रोड पर टोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पीछे खाली जमीन में उन्होंने प्रियंका के साथ सामूहिक बलात्कार किया। फिर रंगा रेड्डी जिले के शादनगर शहर के पास चटानपल्ली पुल पहुंचकर उन्होंने प्रियंका पर मिट्टी का तेल डालकर उसे जला दिया। इसके बाद चारों वहां से भाग निकले।

doctor priyanka reddy muder case 4 arrested ANI NEWS INDIA copy
डॉक्टर प्रियंका से गैंगरेप क जलाकर मार डाला, दिल दहलाने वाला अपराध, 4 आरोपी गिरफ्तार, अब खुलेंगे राज़

प्रियंका रेड्डी के पिता ने पुलिस पर लापरवाही और उदासीनता का आरोप लगाते हुए कहा कि वे रात 10 बजे प्रियंका के लापता होने की शिकायत दर्ज कराने गए थे और उन्हें अन्य दो पुलिस स्टेशन के लिए भेज दिया गया। टोल प्लाजा के निकट से आखरी कॉल आयी थी। आखिरकार शमशाबाद पुलिस ठाणे में मध्य रात्रि 2ः50 बजे एफआईआर दर्ज की। उनका कहना है कि पुलिस सतर्क होती तो उनकी बेटी की जान बच सकती थी।

इसे भी पढ़ें :- प्रेमी के प्यार में पागल पत्नी प्रेमी संग करती थी अय्याशी, पति के समझने के बाद भी नहीं मानी फिर एक दिन पति ने पत्नी के प्रेमी की कर दी हत्या

गौरतलब है कि प्रियंका बुधवार शाम 6 बजे डॉक्टर से मिलने के लिए घर से निकली थी। प्रियंका अपनी स्कूटी से तोंडुपल्ली स्थित टोलप्लाजा पहुंची। वहां अपनी स्कूटी पार्क कर वह एक अन्य वाहन से गच्चीबावली स्थित एक स्किन क्लिनिक गई। वापस रात  9 बजे टोल प्लाजा पहुंचने के बाद प्रियंका जब स्कूटी से घर जाने लगी तो देखा कि उसका टायर पंक्चर है। घटनाक्रम में पास में खड़े 20 वर्षीय युवक स्कूटी का पंक्चर जोड़कर लाने के बहाने प्रियंका की स्कूटी अपने साथ ले गया। इस युवक पर तीन अन्य के साथ मिलकर घटना को अंजाम देने का आरोप है।

इसे भी पढ़ें :- युवती को 5 लाख रूपये की मांग कर चरित्र हनन की धमकी, युवक के विरूद्ध अपराध दर्ज

प्रियंका रात्रि 9.22 बजे अपनी बहन भव्या को फोन कर बताया कि उसकी स्कूटी का टायर पंक्चर हुआ है और एक युवक उसे जोड़कर लाने के लिए गया है। उसने कहा, ‘बगल में लॉरी में कुछ लोग हैं जो मुझे घूर रहे हैं। यहां चारों तरफ लॉरी ड्राइवर हैं और उन्हें देखकर डर लगने लगा है और सभी मेरी तरफ देख रहे हैं।’ प्रियंका ने बहन से कुछ देर तक फोन पर बातें करने की अपील की। इस तरह करीब 6 मिनट तक प्रियंका अपनी बहन से फोन पर बातें करती रही. लेकिन उसके बाद प्रियंका का फोन स्विच ऑफ हो गया।

कोई जवाब दें