ठग : पायल सैमुअल के काले कारनामे के भोपाल सरगना कथित पत्रकार की पुलिस को तलाश

0
836
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

  • खुद को विदेशी न्यूज चैनल, कंपनियों की सीईओ बता करोबारियों से करती थी ठगी
  • ठग : मैनिट से ड्रापआउट होने के बाद देशभर के 5 महानगरों में की जालसाजी

भोपाल. मैनिट से इंजीनियरिंग की ड्रापआउट होने के बाद उसे ऐश-ओ-आराम की जिंदगी चाहिए थी, फिर चाहे उसके लिए कुछ भी क्यों न करना पड़े। उसने देशभर के बड़े बिजनस मैन को ठगने की सोची..। महंगे फोन खरीदे। इसके बाद किराए पर लग्जरी कारें लेकर घर से निकल पड़ी।

यह कहानी 33 वर्षीय पायल सैमुअल उर्फ हसीना की है। जिसने डेढ़ साल में भोपाल, इंदौर, मुंबई, दिल्ली, गुडग़ांव, जबलपुर समेत अन्य महानगरों के 7 कारोबारियों से सिलसिलेवार ठगी को अंजाम दिया।

वह खुद को कारोबारियों से मल्टीनेशनल कंपनी, विदेश न्यूज चैनल की सीईओ बताकर ठगी करती रही। उसके इसके कारनामे पर दिल्ली पुलिस लगाम लगा सकी। भोपाल पुलिस तिहाड़ जेल, दिल्ली से उसे प्रोटक्शन वारंट पर भोपाल लेकर आई है। अबतक की पूछताछ में उसने सात कारोबारियों से करीब दो करोड़ रुपए की ठगी करना कबूला है। गोविंदपुरा, टीटी नगर थाना पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। सैमुयल मूलत: मंडीदीप की रहने वाली है। पायल 2012 में भी भोपाल के एक कारोबारी को ठगने के आरोप में तीन माह तक जेल में रह चुकी है।

पायल का 50 लकी

पायल 50 को लकी मानती है। वह देशभर में जितनी भी जालसाजी की वारदात को अंजाम दिया डील में 50 जरूर आया है। 50 लाख, 50 सामग्री याकी 50 करोड़ उसकी डील में जरूर होते हैं। उसने दिल्ली क्राइम ब्रांच की पूछताछ में 50 को लकी बताया था।

जालसाजी

  • 50 लाख के मोबाइल खरीदे: मार्च 2018 में सैमुयल ने मल्टीनेश कंपनी की मालकिन बनकर टीटी नगर से मोबाइल कारोबारी धीरज जैन से करीब 50 लाख रुपए के मोबाइल खरीदे। 29 लाख पेमेंट किए। 21 लाख का फर्जी चेक देकर ठगी की।
  • 50 सोने के सिक्के के नाम पर ठगी: मार्च 2018 में अजय अग्रवाल की विजय मार्केट बीएचईएल में संचालित ज्वेलरी की दुकान से सैमुयल ने खुद को मुंबई की एक मल्टीनेशनल कंपनी सनशाइन इवेंट सीईओ बनकर 10-10 ग्राम के 50 सोने के सिक्के खरीदने का आर्डर किया। 14 सिक्के लेकर चंपत हो गई। जाली चेक दिया।
  • 50 करोड़ का ठेका दिलाने के नाम पर ठगा: अगस्त 2018 में लाजपत नगर दिल्ली में टूर एंड ट्रेवल्स एजेंसी के संचालक रवि पटेल से लंदन के अंग्रेजी न्यूज चैनल की वाइस प्रसिडेंट बनकर 30 लाख रुपए ठगे। पायल ने उन्हें लंदन से जुड़ी एक कंपनी में 50 करोड़ का ठेका दिलाने का झांसा दिया था।

लग्जरी कार, फर्राटेदार अंग्रेजी बोल जाल में फांसती

सैमुयल ने बताया कि उसकी फराटेदार अंग्रेजी सुन कर हर कोई कारोबारी इसकी जाल में फंस जाता था। वह किराए पर लग्जरी कार लेकर व्यापारी से मिलती थी। उसने मुंबई में फिल्म कंपनी का वाइस प्रेसिडेंट बनकर एक कारोबारी को ठगा था। हालांकि व्यापारी ने इंकम टैक्स के झमेले की वजह से शिकायत कम ठगी होने की थी।

तलाश शुरू होते ही शहर बदल देती

वारदात के बाद जैसे ही उसकी पुलिस तलाश शुरू करती सैमुयल उस शहर को छोड़कर लापता हो जाती। वह मुंबई में अधिकतर वक्त गुजारती थी। उसने जालसाजी की अधिकतर रकम ऐश-आराम में खर्च किया है।

भोपाल की इन काली करतूतों की साजिश 9 रॉयल हाउस, एमपी नगर मेँ होती थी तैयार

उसकी काली करतूतों की साजिश भोपाल के 9 रॉयल हॉउस एमपी नगर स्थित एक कथित पत्रकार के कार्यालय में बनाई जाती थी। कथित पत्रकार के मोबाइल फोन के की पुलिस जांच कर रही है। इस कथित पत्रकार ने भी कई काले कारनामे और धोखाधड़ी के दर्जनों कांड कर रखें है पुलिस जांच समय पर करती तो यह षड्यंत्रकारी जेल की सलाखों के पीछे होता। इस कथित की शिकायते टीटी नगर थाना, एम. पी. नगर थाना, कोहेफिजा थाना शिकायतों पर जांचे चल रही है।

इनका कहना है : –

पायल सैमुअल का कथित सरगना जिसे ठगी के आरोप में तिहाड़ जेल से भोपाल की पुलिस लाई। वार्तालाप और षड्यंत्र का मैं स्वयं गवाह हूँ । यह महिला और एक कथित पत्रकार के साथ मिलकर कई प्लान बनाते थे और कई लोगों उक्त कार्यलय में ही बैठकर कथित पत्रकार से फोन पर धमकियां दिलवाती थी दोनों मिलकर कई कांडों का अंजाम दिया, उस समय ज्यादा कुछ समझ नहीं आया परंतु जब एफ आई आर दर्ज हुई और यह महिला फरार हुई और कारनामे समाचार पत्रों की सुर्खियां बने तब ज्ञात हुआ कई मामले भोपाल में और दर्जनों मामले इंदौर में दिल्ली में इस महिला पर दर्ज है भोपाल और इंदौर को सहयोग करने वाले इस कथित पत्रकार ने इस महिला का हर फर्जीबाड़े में साथ दिया, मैं बखूबी जानता हूं। मेरी कभी कहीं गवाही की जरूरत पड़ेगी तो साक्षात गवाह हूं में प्रशासन की मदद करने को हर दम तैयार हूं

विनय डेविड ( पत्रकार )
9893221036
जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया
प्रदेश अध्यक्ष,
मध्य प्रदेश

कोई जवाब दें