चैतन्य देवियों के रूप में एकाग्रता से विराजमान हैं ब्रह्माकुमारी बहनें

0
289
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ जबलपुर // प्रशांत वैश्य : 79990 57770

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के कटंगा काॅलोनी सेवाकेन्द्र के द्वारा सिविल लाईन में चैतन्य देवियों की  झाॅकी का आयोजन

जबलपुर। चैतन्य देवियों की झाॅकी में देवियो के रूप में विराजमान ब्रह्माकुमारी बहनों ने अनेक वर्षों के राजयोग के अभ्यास के फलस्वरूप ऐसी एकाग्रता की स्थिति प्राप्त कर ली हैं कि वे कई घण्टे तक एक ही मुद्रा में अचल बैठ सकती हैं। राजयोग के माध्यम से कर्मेंद्रियों पर सहज नियंत्रण किया जा सकता हैं। झाॅकी में एक ही मुद्रा में एकटक बिना पलके झपके बैठनें वाली राजयोग का अभ्यास करने वाली ब्रह्माकुमारी बहनों के दैवी स्वरूप का दर्शन करनें के लिये बड़ी संख्या में श्रद्धालु आ रहे हैं। और दर्शन करने वाले आपस में यह चर्चा जरूर करते पाये जाते हैं कि ये चैतन्य देवियाॅ हैं कि देवी की प्रतिमायें है।

इस अवसर पर वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका ब्र.कु. विमला बहन जी ने नवरात्रि का आध्यात्मिक महत्व बताते हुये कहा कि नवरात्रि के त्यौहार में नौ देवियों का आव्हान कर के काम क्रोध  लोभ मोह और अहंकार रूपी असुरों से छुटकारा पाने को प्रयास करते हैं, किन्तु देखनें मे यह आता हैं कि  यह बुराईयाॅ मनुष्यों में बढती ही जा रही हैं जिसके कारण  से विश्व में दुख अशांति असंतुष्टता बढती ही जा रही हैं। आपने आगे कहा कि देवियों की पूजा अर्चना के साथ साथ हमें अपने जीवन से सदा के लिये विकारों का निकालने के लिये राजयोग का नियमित अभ्यास करना चाहिये।

इस अवसर पर पार्षद एवं एम आई सी सदस्य भ्राता कमलेश अग्रवाल ने अपनी

शुभकामनाये व्यक्त करते हुये कहा कि नवरात्रि का त्यौहार अपने आप में  सकारात्मक  परिवर्तन लाने के संकल्प करने का अवसर होता हैं, हम स्वयं के लिये, समाज के लिये,राष्ट्र के लिये सकारात्मक कार्य कर सके, तो इस पर्व को मनाना सार्थक होगा।

ब्र.कु.मधु बहन ने बतलाया की इस झांकी का अवलोकन 7 अक्टूबर तक प्रतिदिन संध्या 7 बजे से 11 बजे तक किया जा सकता है .

कोई जवाब दें