चार दिन थाने में रखने के बाद फर्जी मुकदमा किया दर्ज

0
259
Spread the love

*भोपाल* 24 फरवरी 2017 \\ सतीश सिंह

राजधानी भोपाल का शाहपुरा थाना आए गई विवादों में घिरे रहने के कारण हमेशा सुर्खियों में रहता है। नियमों को दरकिनार कर शाहपुरा थाना पुलिस ने एक गरीब परिवार के नौजवान को 4 दिन से थाना शाहपुरा में लाकर बंद कर रखा था । व्यक्ति की जानकारी थाने से लेने पर थाना प्रभारी जितेंद्र पटेल ने तुरंत बाद ही मुकदमा बना कर अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश की है।

मामला थाना शाहपुरा भोपाल का है। चार दिन पहले शाहपुरा पुलिस ने अपने क्षेत्र में रहने वाले मुकेश वानखेडे सहित दो अन्य लोग राजपाल एवं अनिल को भी पूछताछ के नाम का पर खाने में लाकर लॉकअप में बंद कर दिया। जब परिवारों जनो अपने बच्चों की जानकारी लेने थाने पहुंचते थे तो थाने का स्टाफ उन्हें भगा दिया करता था। जब 3 दिन तक पुलिस ने मुकेश वानखेड़े को नहीं छोड़ा और कोर्ट ने भी पेश नहीं किया ना कोई fir दर्ज की परेशान होकर परिवार जन पिक्चर अधिकारियों से चर्चा की एवं कुछ समाजसेवियों से संपर्क किया।

इसकी जानकारी समाजसेवी एवं मीडिया के कुछ जागरुक लोगों ने थाना प्रभारी जितेंद्र पटेल से जानना चाहा तो उन्होंने आनन फानन में कल रात को मुकेश वानखेडे पिता गेंदालाल वानखेडे उम्र 20 वर्ष पर प्रकरण 25 आर्म्स एक्ट का दर्ज कर लिया। मुकेश वानखेड़े एवं उनके पिता ने आरोप लगाया है कि मेरे बेटे से कोई भी किसी भी प्रकार का कोई हथियार बरामद नहीं हुआ है उसे झूठे मुकदमा बनाकर फसाया गया है यह पुलिस का षड्यंत्र है जिसकी उच्च स्तरीय जांच की जाना चाहिए. आज मुकेश वानखेडे को कोर्ट में पेश किया गया।

विश्वस्त सूत्रों की जानकारी के अनुसार इन 2 दिनों में शाहपुरा थाना पुलिस ने ऐसे दो अन्य राजपाल एवं अनिल के खिलाफ भी इसी प्रकार की 25 आर्म्स एक्ट की धारा के तहत मुकदमे बनाए हैं ।

(नेशनल न्यूज़ ऑफ इंडिया)

कोई जवाब दें