गेहूं खरीदी केन्द्रों गड़बड़ घोटाला न हो, बिचौलिए किसानों के साथ धोखाधड़ी न करे, कलेक्टर के अधिकारियों को खास ध्यान देने निर्देश

0
188
Spread the love

TOC NEWS // जबलपुर | 22-अप्रैल-2018 

जबलपुर. कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने आज समर्थन मूल्य पर गेहूं के उपार्जन के लिए बनाये गये सिगौद, नगना और ओरिया खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण किया।  इस दौरान उन्होंने किसानों से भी चर्चा की और उनसे आग्रह किया किसी भी तरह की कठिनाई से बचने के लिए एफ.ए.क्यू. के मापदण्डों के अनुरूप ही गेहूं खरीदी केन्द्रों पर लेकर आयें। 

श्रीमती भारद्वाज ने इस मौके पर सभी खरीदी केन्द्रों पर छन्ना और ब्लोअर रखने की सख्त हिदायत अधिकारियों को दी है। उन्होंने अधिकारियों से साफ-साफ कहा कि गुणवत्ता की परख करने के बाद ही गेहूं की खरीदी करें ताकि किसानों को भुगतान में कोई समस्या न हो। कलेक्टर ने तीनों केन्द्रों पर किसानों से अब तक हुई गेहूं खरीदी की जानकारी केन्द्र प्रभारियों से ली। उन्होंने उपार्जन व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों और केन्द्र प्रभारियों से कहा कि समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी वास्तविक किसानों से ही की जानी चाहिए इसमें भी छोटे किसानों से गेहूं खरीदी को प्राथमिकता देनी होगी। श्रीमती भारद्वाज ने कहा कि बिचौलिए इस व्यवस्था का अनुचित फायदा न उठा पायें इस पर अधिकारियों को खास ध्यान देना होगा।

JABALPUR DM CHHABI BHARDBAJ ANI NEWS 2
JABALPUR DM CHHABI BHARDBAJ _ ANI NEWS INDIA

कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान ओरिया खरीदी केन्द्र पर प्रति किसान 338 ‍क्विंटल गेहूं की हुई खरीदी को अव्यावहारिक बताया। उन्होंने इस केन्द्र में गेहूं की खरीदी में अनियमितता की आशंका जताते हुए तहसीलदार पनागर को निर्देश दिये कि यहां अभी तक हुई खरीदी का सत्यापन किसानों द्वारा बोये गये रकबा और उत्पादन के आधार पर करें तथा इसकी रिपोर्ट शीघ्र उन्हें दें।  श्रीमती भारद्वाज ने नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों को निर्देश दिये कि तहसीलदार से सत्यापन की रिपोर्ट मिलने के बाद ही इस केन्द्र में खरीदे गेहूं का परिवहन और भण्डारण किया जाये।      कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान खरीदी केन्द्र प्रभारियों से किसानों को किये गये एस.एम.एस. की जानकारी भी ली।

उन्होंने पूछा कि उन किसानों से कितना गेहूं खरीदा गया है जिन्हें एस.एम.एस. भेजे गये और कितने किसानों से बिना एस.एम.एस. के गेहूं की खरीदी की गई है। श्रीमती भारद्वाज ने नगना और सिंगौद खरीदी केन्द्र में भी किसानों से खरीदे गये गेहूं की जांच करने के निर्देश अधिकारियों को दिये।  उन्होंने कहा कि जब तक जांच और सत्यापन का कार्य पूरा नहीं हो जाता इन केन्द्रों पर खरीदे गेहूं का परिवहन और भण्डारण न किया जाये।

कलेक्टर ने खरीदी केन्द्रों पर रखे गेहूं की सेम्पलिंग करने की हिदायत भी अधिकारियों को दी। उन्होंने सभी केन्द्रों पर इलेक्ट्रॉनिक तौल मशीनों की जांच भी की।  निरीक्षण के दौरान ओरिया खरीदी केन्द्र पर बोरे में भरकर रखे गीले गेहूं का देखकर भी कलेक्टर ने अप्रसन्नता व्यक्त की।  उन्होंने नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों को इस गेहूं को रिजेक्ट करने के निर्देश देते हुए कहा कि वे इस केन्द्र पर किसानों से खरीदे गेहूं की भण्डारण केन्द्र पर भी जाकर जांच करें।      श्रीमती भारद्वाज ने नगना केन्द्र प्रभारी एवं आपरेटर द्वारा किसानों को एस.एम.एस. करने में बरती गई अनियमितता के कारण दोनों का पद से पृथक करने की कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये हैं।

कोई जवाब दें