गाडरवारा नगर पालिका क्षेत्र के सभी शस्त्र लायसेंस 12 अगस्त तक निलंबित

0
154
Spread the love

TOC NEWS

नरसिंहपुर. मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नरसिंहपुर जिले की नगर पालिका परिषद गाडरवारा के अध्यक्ष को अपने पद से वापस बुलाने के संबंध में निर्वाचन के लिए घोषित कार्यक्रम के अनुसार निर्वाचन की अधिसूचना जारी की जा चुकी है। इस संबंध में मतदान 9 अगस्त को होगा। निर्वाचन की घोषणा के उपरांत ही नगरीय क्षेत्र गाडरवारा के लिए आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील हो गई है। यह आदर्श आचरण संहिता नगर पालिका अध्यक्ष गाडरवारा को अपने पद से वापस बुलाये जाने के निर्वाचन कार्यक्रम सम्पूर्ण होने तक प्रभावशील रहेगी।

इसे भी पढ़ें :- शिवराज सरकार का 600 करोड़ के विज्ञापन घोटाले के बाद फिर 22 करोड़ का विज्ञापन घोटाला उजागर

इसे भी पढ़ें :- विज्ञापन घोटाला : विज्ञापन के नाम पर 600 करोड़ का घोटाला

निर्वाचन प्रक्रिया को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के उद्देश्य से जिला दंडाधिकारी डॉ. आरआर भोंसले ने नगर पालिका परिषद गाडरवारा क्षेत्र के अंतर्गत प्रपत्र 3/ 5 के सभी लायसेंसधारियों के शस्त्र लायसेंस तत्काल प्रभाव से 12 अगस्त 2017 तक की अवधि के लिए निलंबित करने का आदेश जारी किया है। यह आदेश शस्त्र अधिनियम 1959 के प्रावधानों के तहत जारी किया गया है।

इसे भी पढ़ें :- इलाहाबाद हाईकोर्ट की यूपी सरकार को फटकार, क्या चाहते हो लोग मांस न खाएं ?

इसे भी पढ़ें :- एसडीएम का शव 25 किमी दूर बिना कपड़ों के मिला, बेटे ने कहा- पापा की हत्या

इस सिलसिले में जिला दंडाधिकारी ने आदेशित किया है कि सभी लायसेंसधारी अपने शस्त्र लायसेंस में दर्ज शस्त्र संबंधित थाना में जमा कर नियमानुसार पावती प्राप्त करें। आदेश का उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित शस्त्र लायसेंसधारी के विरूद्ध सख्त वैधानिक कार्रवाई की जायेगी।

इसे भी पढ़ें :- भाजपा विधायक की धमकी, कहा – मुस्लिमों ने राम मंदिर का विरोध किया तो उन्हें हज नहीं जाने देंगे

यह आदेश पुलिस बलों, अद्र्धसैनिक बलों तथा बैंक सुरक्षा गार्डों पर लागू नहीं होगा। इस संबंध में प्रचार- प्रसार कराने और लाऊड स्पीकर के जरिये अनाउन्समेंट कराने के निर्देश थाना प्रभारी को दिये गये हैं।

इसे भी पढ़ें :- मंत्री का पीए बनकर ठगी करने वाला शैलेंद्र सिंह गिरफ्तार

इसे भी पढ़ें :- सहारनपुर हिंसा पर राज्यसभा में भड़कीं माया, बोलीं- दबाई गई मेरी आवाज, दूंगी सदन से इस्तीफा

कोई जवाब दें