खाद्य सामग्री को लेकर प्रशासन हुआ सख्त, सेवा के नाम पर भोजन के साथ शराब बाटने की जानकारी

0
316
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा. औद्योगिक शहर नागदा मे नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण के फैलाव को देखते हुवे सम्पुर्ण भारत को लॉक डाऊन किया गया है। नागदा शहर मे गरिब एव जरुरत मंद लोगो को भोजन वितरण करने के लिये नोडल अधिकारी,सुपर वाईजर एव कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है एव उनके नाम के सम्मुख वार्ड एव क्षेत्र अनुसार दायित्व सौपा गया है।

कोरोना वायरस के चलते नगर मे भोजन वितरण प्रणाली पर सवालिया निशान लगने के उपरांत प्रसाशन ने पुरी व्यवस्था को नये सिरे से तैयार किया है एव पुरानी व्यवस्था को निरस्थ कर दिया है।
नई व्यवस्था 7 अप्रैल,मंगलवार से लागु हो जायेगी और पुरानी व्यवस्था सोमवार की रात भोजन वितरण के बाद से पूर्णतः निरस्थ हो जायेगी। और नई भोजन व्यवस्था मंगलवार से लागू हो जायेगी।

इस पुरी व्यवस्था को अनुविभागीय अधिकारी श्री आर पी वर्मा ने तैयार कर मिडिया के सामने रखी है जिसमे पाँच नोडल अधिकारी नियुक्त किये गये है। उनके अंडर मे दो से लगाकर चार तक सुपर वाईजर नियुक्त किये गये है। इन सुपर वाईजर के अंडर मे भोजन वितरण दल के चार कर्मचारी होंगे। जो सभी के चिर परिचित लोग होंगे। सरकारी राशन वितरण की दुकान ही भोजन वितरण केन्द्र होगी। प्रशासन ने जो गरिब व जरुरत मंद है उन्हे चिन्हित कर लिया है। सर्वे करने के दौरान जो आकड़े सामने आए है एसे गरिब लोग हमारे शहर की जनसंख्या के अनुसार कितने गरिब है कितने ए पी एल ओर कितने बी पी एल कार्ड धारक लोग है वह संख्या 4891 हो कर लगभग 5000 के करीब है। इस आधार पर भोजन वितरण केन्द्र बनाये गये है।

इनका क्या कहना है जाने- ♦ श्री आर पी वर्मा -अनुविभागीय अधिकारी ,नागदा ♦ श्री मनोज रत्नाकर- नगर पुलिस अधीक्षक, नागदा

भोजन वितरण केन्द्र पर चार लोगो को नियुक्त किया गया है वह कर्मचारी है सरकारी राशन वितरण करने वाला कर्मचारी दुसरा उसका सहयोगी तीसरी आगन वाड़ी केन्द्र की कार्यकर्ता और चौथा नगर पालिका का कर्मचारी यह सभी लोग मिल कर केन्द्र से भोजन वितरण करेंगे।
वितरण की व्यवस्था यह होगी की पोरवाल समाज आगे आ कर निवेदन किया था की आधा क्षेत्र हमे दिया जाये तो उन्हे आधा क्षेत्र बिरला ग्राम का दिया गया है। इस लिये पोरवाल समाज बिरला ग्राम मे वितरण सुनिश्चित करेंगे उस केन्द्र तक।

इसी तरह सिगडी 95 जहा भोजन बनाता है उस परिसर को प्रसाशन ने अधिग्रहण कर लिया है । सिगडी जो भोजन बनाएगा वह नागदा मण्डी क्षेत्र मे उन दुकानो पर वितरित करेगा।
भोजन वितरण मे उपयोग होने वाले वाहन पर एक चालक और दो नगर पालिका के कर्मचारी होगे। उसी तरह बिरला ग्राम क्षेत्र मे भी ऐसा ही होगा।

पास की व्यवस्था प्रारुप मे-

नोडल अधिकारी को लाल रंग का पास दिया जाएगा जिनकी संख्या पाँच होगी। जिसमे सलोनी पटवा,अनु जैन,राकेश मित्तल,रतन लाल डामोर और मुकेश वर्मा होंगे। वही इन सभी के अंडर मे सुपर्वाइजर आयेंगे।

सभी के पास अलग अलग रंगो के पास होंगे

नोडल अधिकारी – लाल रंग
सुपर वाईजर – केसरिया रंग
वाहन कर्मचारी – गुलाबी रंग
भोजन बनाने वाले – पिला रंग
भोजन वितरण केन्द्र – सफेद रंग

सभी पास पर पास धारक का फोटो , क्रमांक एव अनुविभागीय अधिकारी आर पी वर्मा के हस्ताक्षर किये होंगे। व्यक्ति उसका गलत इस्तमाल नही कर पायेगा ओर ना ही फोटो कॉपी कर पायेगा।

पुलिस द्वारा सोमवार की रात भोजन वितरण के बाद से बिना पास के पाये जाने पर कार्यवाही के लिये स्वतंत्र होंगे। भोजन वितरण कार्य के लिये केवल दो वाहनो की अनुमति प्रसाशन ने दी हुई है। जो दी जोन है। एक वाहन पर एक ड्रायवर के साथ दो कर्मचारी रहेंगे। वाहन भोजन सामग्री लेकर केन्द्र तक जायेगी भोजन उतारेगी और केन्द्र द्वारा भोजन वितरण किया जाएगा।

पुलिस एव प्रसाशन की टीम भोजन व्यवस्था की जाच के लिये जायेगी ओर यदि किसी के पास उसका पास ना हुवा तो उस पर धारा 188 के तहत प्रसाशन के आदेशों का उल्लंघन करने का दोषी मानते हूवे कार्यवाही की जायेगी। वही भोजन व्यवस्था मे लगे लोगो की उम्र 18 वर्ष से कम ओर 50 वर्ष से अधिक नही होना चाहिये।

कोई जवाब दें