कोरोना वायरस चीनी नागरिकों व चीन गए विदेशियों के वैध वीजा किए रद्द

0
1772
Spread the love

बीजिंग: चीन में कोरोना वायरस से मृतकों की संख्या 425 पर पहुंचने के साथ भारत ने चीनी नागरिकों और पिछले दो हफ्तों में चीन गए विदेशी नागरिकों के मौजूदा वीजा को रद्द कर वीजा नियमों को मंगलवार को और सख्त कर दिया।

चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर दो फरवरी को, भारत ने चीनी यात्रियों और चीन में रह रहे विदेशी नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा पर अस्थायी रोक लगा दी थी। चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि सोमवार को वायरस के कारण 64 मौतों के साथ चीन में मृतकों की संख्या 425 पर पहुंच गई और घातक बीमारी के संक्रमण की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 20,438 हो गई।

यहां भारतीय दूतावास की घोषणा में कहा गया है, ‘वे सभी जो पहले से भारत में हैं (नियमित या ई-वीजा पर) और जो 15 जनवरी के बाद चीन से गए हैं, उनसे भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के हॉटलाइन नंबर (+91-11-23978046 और ईमेल : ncov2019@gmail.com) पर संपर्क करने का अनुरोध किया जाता है।’

वीजा की वैधता के बारे में दूतावास ने कहा, ‘भारतीय दूतावास और हमारे वाणिज्य दूतावासों को चीनी नागरिकों के साथ ही चीन में रहने वाले या पिछले दो हफ्तों में चीन आने वाले विदेशी नागरिकों से बहुत सारे प्रश्न मिल रहे हैं कि वे भारत जाने के लिए अपने वैध एकल/ बहुल प्रवेश वीजा का प्रयोग कर सकते हैं या नहीं।’

दूतावास ने कहा, ‘यह स्पष्ट किया गया है कि मौजूदा वीजा अब वैध नहीं हैं। भारत जाने के इच्छुक लोगों को भारतीय वीजा के लिए नए सिरे से आवेदन करने के लिए बीजिंग में भारतीय दूतावास (visa.beijing@mea.gov.in) या शंघाई में (Ccons.shanghai@mea.gov.in) और गुआंगझोउ (Visa.guangzhou@mea.gov.in) में वाणिज्य दूतावासों से संपर्क करना होगा।

इस संबंध में इन शहरों में भारतीय वीजा आवेदन केंद्रों (www.blsindia-china.com) से भी संपर्क किया जा सकता है।’ दूतावास ने कहा कि भारत की किसी भी यात्रा से पहले वीजा की वैधता के बारे में मालूम करने के लिए चीन में भारतीय दूतावास/ वाणिज्य दूतावासों के वीजा विभाग से संपर्क किया जा सकता है। घातक वायरस भारत समेत 25 से अधिक देशों में फैल चुका है।

कोई जवाब दें