कोटवारो की बैठकमें भड़के आईपीएस, ग्रामीण क्षेत्रो में बिक रही है अवैध शराब

0
373
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

  • स्थानीय थाना परिसर में थाना क्षेत्र के कोटवारों को बुलाया गया।
  • आई पी एस अभिनव चौकसे एव एस आई कटारे ने कोटवारों की बैठक ली।

नागदा जं.। औद्योगिक क्षेत्र नागदा के बिरला ग्राम थाना परिसर मे कोटवारो की बैठक बुला कर कोरोना के संक्रमण से बचाव पर चर्चा कर जानकारी दी गई।  आप को बता दे कि कोटवार ब्रिटिश काल से खुफिया तंत्र की अहम कड़ी हुवा करते थे। अंग्रेजों के समय से गांव में कोटवार रखे गए थे। जो गांव की सूचना तंत्र की अहम कड़ी थे। जिन्हे गांव में होने वाली हर गतिविधि की जानकारी होती है।

अंग्रेजों के समय से गांव में कोटवार रखे गए थे। जो गांव की सूचना तंत्र की अहम कड़ी थे। जिनसे गांव में होने वाली हर गतिविधियों की जानकारी शासकों तक पहुंच जाती थी। अंग्रेजों के जाने के बाद आजाद देश में भी कोटवारों को अहम कड़ी माना। लेकिन कुछ दशकों से ये कड़ी दिन ब दिन कमजोर होती जा रही थी। जिसको लेकर बिरला ग्राम थाने प्रशिक्षु आई पी एस अभिनव चौकसे ने मजबूत करने के लिए सभी कोटवारो की बैठक बुला कर कोरोना वायरस के संबंध मे जानकारी देते हुये कई गम्भीर मुददों पर चर्चा की जिनमे प्रमुखता से अवैध शराब पर चर्चा हुई।

इनका क्या कहना है जाने :- आई पी एस अभिनव चौकसे एव एस आई कटारे ने कोटवारों की बैठक ली

चौकीदार गांव का प्रहरी है। उसके पास सभी प्रकार की सूचनाएं आ जाती है। थाना प्रभारी चौकसे ने कोटवारों से चर्चा करते हुए कहा गांव का चौकीदार यदि सतर्क रहता है तो गांव के साथ थाना क्षेत्र में भी अपराध का ग्राफ घटेगा। वहीं अपराधियों में भी खौफ बनेगा। कोटवारों को उनके अधिकार और कर्तव्य के बारे में जानकारी देते हुए उन्हें गांव में कोई संदिग्ध व्यक्ति दिखने पर या अवैध शराब बेचने वालो एव अनैतिक गतिविधियां दिखाई देने पर तुरंत सूचना थाने पर या बीट प्रभारी को दे।

कोई जवाब दें