काव्य मंच : कविता” डरो नही डटे रहो” : कवयित्री कांचन चव्हाण पवार

0
584
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

 

वरद विद्या मंदिर औरंगाबाद की शिक्षिका ,लेखिका, कवयित्री  कांचन चव्हाण पवार ने अपनी कविता” डरो नही डटे रहो”के माध्यम से दिनरात मरिजो की सेवा करने वाले डॉक्टर, हमारी रक्षा करनेवाले पोलीस, सफाई कामगार, मिडीयावाले इनको ही ईश्वर समजके उनके प्रति सकारात्मक भावना रखना चाहिये.

वीडियो : काव्य मंच : कविता” डरो नही डटे रहो” : कवयित्री  कांचन चव्हाण पवार 

वीडियो : लिंक पर क्लिक करके… काव्य दरबार

कोरोना के बढते संक्रमण को देखते हुए खुद की रक्षा करके कोरोना  की इस लढाई को अटूट हिंमत से लडकर कोरोना पे जीत हासिल करने का संदेश दिया।

कोई जवाब दें