कलेक्टर ने की निर्माण कार्यों की समीक्षा लंबित निर्माण कार्यों में प्रगति लाने के निर्देश

0
368
Spread the love

TOC NEWS @ http://tocnews.org/

जिला ब्यूरो चीफजिला नरसिंहपुर // अरुण श्रीवास्तव : 91316 56179

नरसिंहपुर, 06 फरवरी 2019. कलेक्टर दीपक सक्सेना ने विभिन्न विभागों से संबंधित निर्माण कार्यों की समीक्षा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बुधवार को की। कलेक्टर ने प्रगतिरत, पूर्ण, अप्रारंभ और स्वीकृत निर्माण कार्यों की समीक्षा की।

उन्होंने पूर्ण निर्माण कार्यों के बारे में जानकारी ली। कलेक्टर ने विभिन्न निर्माण कार्यों की जनपद व कार्यवार समीक्षा की। उन्होंने लंबित निर्माण कार्यों में प्रगति लाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जो कार्य पूर्ण हो चुके हैं, उनके कार्यपूर्णता प्रमाण पत्र- सीसी जारी की जावे। श्री सक्सेना ने कहा कि जिन निर्माण कार्यों में कोई समस्या या कठिनाई आ रही हो, तो अवगत करायें। उनका निराकरण कराया जायेगा।

कलेक्टर ने सांसद एवं विधायक निधि, जनभागीदारी योजना, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, लोक निर्माण विभाग, परियोजना क्रियान्वयन इकाई- पीआईयू, पीडब्ल्यूडी ब्रिाज, एनव्हीडीए, पीएमजीएसवाय, जलसंसाधन, हाऊसिंग बोर्ड, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, नगरीय निकाय आदि से संबंधित निर्माण कार्यों की समीक्षा की।

उन्होंने निर्माण कार्यों को तय समय सीमा में गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निरंतर दौरे कर कार्यों में प्रगति लाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि मौके पर जाकर निर्माण कार्यों का मुआयना करें। ग्राम पंचायतों के कार्यों की सतत मॉनीटरिंग करें। आरआरसी के पुराने प्रकरणों में वसूली की कार्रवाई तत्परता से करें। गबन वाले मामलों में सख्त कार्रवाई करें।

कलेक्टर ने जनपदों के सीईओ को निर्देशित किया कि वे ऐसे पुराने कार्य, जिनमें राशि आहरित कर ली गई है, परंतु अब तक कार्य पूर्ण नहीं किये गये हैं, काफी समय से लंबित ऐसे निर्माण कार्यों को शीघ्र पूर्ण करायें अथवा मध्यप्रदेश पंचायत राज अधिनियम की धारा 92 के तहत कार्रवाई करें, संबंधितों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करायें।

कलेक्टर ने जिला योजना अधिकारी को निर्देशित किया कि वे निर्माण कार्यों के लिए अंतिम किस्त जारी करने के पहले सभी औपचारिकतायें पूर्ण करना सुनिश्चित करें और निर्माण कार्यों की सही तरीके से मॉनीटरिंग करें।

बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आरपी अहिरवार, जिला योजना अधिकारी लता बान, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग आदित्य सोनी, कार्यपालन यंत्री आरईएस एवं पीएचई, जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगरीय निकायों के अधिकारी, सहायक यंत्री व उपयंत्री और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

कोई जवाब दें