कमलनाथ की इस्तीफा PC में मौजूद पत्रकार कोरोना से संक्रमित होने से मचा हड़कंप, 300 पत्रकार, कमलनाथ, विधायक और मंत्री सहित 1000 लोग मौजूद रहे

0
1437
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की आखिरी प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद सारे पत्रकारों को क्वारनटीन में जाना पड़ेगा. दरअसल, भोपाल में हुए कमलनाथ के प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद एक पत्रकार की बेटी कोरोना पॉजिटिव थी. अब पत्रजकार भी पॉजिटिव मिला है.

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की आखिरी प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद सारे पत्रकारों को क्वारनटीन में जाना पड़ेगा. दरअसल, भोपाल में हुए कमलनाथ के प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद एक पत्रकार की बेटी कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी. इसके बाद पत्रकार का भी टेस्ट हुआ, जिसमें वह भी पॉजिटिव मिला है.

इसे भी पढ़ें :- ससपेक्टेड महिला को विक्टोरिया चिकित्सालय में इलाज के लिए भर्ती कराया, ससपेक्टेड केस में वार्ड से भागे व्यक्ति को पकड़कर पुनः आइसोलेंशन वार्ड में भर्ती किया

इस वजह से फैसला लिया गया है कि संपर्क में आए सभी पत्रकारों को क्वारनटीन में जाना होगा. इसके अलावा प्रशासन की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद नेताओं की भी लिस्ट बनाई जा रही है, जो प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद थे. ऐसे में सवाल उठता है कि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुद कमलनाथ मौजूद थे. क्या उन्हें भी क्वारनटीन किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें :- कोरोना वायरस के संदिग्ध व्यक्ति को अवध एक्सप्रेस से उतार कर भेजा सिविल अस्पताल

भोपाल नहीं दिल्ली के पत्रकार भी थे मौजूद

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने से पहले भोपाल में प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भोपाल ही नहीं, दिल्ली के भी पत्रकार मौजूद थे. ऐसे में सवाल उठता है क्या दिल्ली के पत्रकारों के लिए कोई खास हिदायत जारी की जाएगी. फिलहाल, उस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद सभी पत्रकारों को क्वारनटीन भेजा सकता सकता है.

इसे भी पढ़ें :- कलयुगी पिता ने नहर में फेंक कर 3 बच्चों को मौत के घाट उतारा, पत्नी को भी किया मारने का प्रयास

प्रशासन जारी कर सकता है एडवाइजरी

पत्रकार की आज ही रिपोर्ट आई है, जिसके बाद प्रशासन की ओर से उन लोगों की पहचान शुरू हो गई है, जो लोग उनके संपर्क में आए थे. न केवल पत्रकार, कमलनाथ सरकार के विधायक और मंत्री भी वहां मौजूद थे. कांग्रेस के बड़े नेता और प्रवक्ता मौजूद थे. अब देखने वाली बात होती है कि प्रशासन कितनी जल्दी एडवाइजरी करता है.

कोई जवाब दें