एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ द्वारा बाढ़ राहत एवं बचाव कार्य का मेगा मॉक अभ्यास कार्यक्रम आयोजित

0
636
Spread the love

रायगढ़, एनडीआरएफ अस्टिेन्ट कमांडेट श्री जी.एस.पटेल एवं टीम कमांडेट एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा मोचन बल)श्री विश्वनाथ चौधरी के नेतृत्व में रायगढ़ के कलमा बैराज में आज प्रात: 10 बजे से बाढ़ राहत एवं बचाव कार्य का संयुक्त अभ्यास (मेगा मॉक ड्रिल)किया गया।
अस्टिेन्ट कमांडेट ने कहा कि आज के बदलते परिवेश में बाढ़ की स्थिति से निपटना एक अत्यंत चुनौतीपूर्ण कार्य है। यह और भी महत्वपूर्ण हो जाता है जब वैश्विक मौसम परिवर्तन के कारण अनियंत्रित वर्षा, सुखाड जो मौसम पुर्वानुमान को भी प्रभावित करता है। बाढ़ आपदा से निपटने वाली विभिन्न इकाईयों की तैयारी का जायजा लेने हेतु संयुक्त अभ्यास कराया गया। जिसमें तैयारी, मोचन समन्वय को बेहतर बनाने की दिशा में यह एक कारगर कदम है। इस अभ्यास के दौरान एनडीआरएफ के साथ समस्त मोचन बलों को बाढ़ राहत एवं बचावत कार्य से संबंधित एसओपी को मानसून आगमन से पहले जांच करने के लिए विभिन्न इकाईयों के बीच यह अभ्यास आज जिले में कराया गया। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री सुखनाथ अहिरवार, डिप्टी कलेक्टर श्री दीपक निकुंज, डिप्टी कलेक्टर श्री ए.के.सोम, बीएमओ डॉ.अवधेश पाणिग्राही, डिस्ट्रीक कमांडेट श्री बी.कुजूर, फूड इंस्पेक्टर श्री राजन कश्यप, तहसीलदार बरमकेला श्री राकेश कुमार वर्मा, तहसीलदार सारंगढ़ श्री प्रकाश चंद साहू, नायब तहसीलदार विक्रांत सिंह रात्रे, श्री मनोज अनंत आदि उपस्थित थे।
बाढ़ राहत एवं बचाव के संबंध में एप परिदृश्य तैयार किया गया। जिसमें हसदेव बागो डेम कोरबा से अचानक पानी छोडऩे के कारण कलमा बैराज में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई जिसके कारण पहले से कुछ गांव वाले, जो वहां स्नान कर रहे थे। वे उस बाढ़ में फंस गए। उन्हें बचाने के लिए तत्काल गांव वालों के द्वारा प्रयास किया गया तथा इसकी सूचना पुलिस नियंत्रण कक्ष को दी गई एवं पुलिस द्वारा एनडीआरएफ, एसडीआरएफ को सूचित किया। एनडीआरएफ तत्काल घटना स्थल पर पहुंची एवं बचाव कार्य प्रारंभ किया एवं गांव वालों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। पुलिस, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, नगर सेना व अन्य बचाव दलों द्वारा डिपडाइविंग उपकरणों एवं बाढ़ राहत बचाव उपकरणों कि मदद से लोगों को किनारे तक लाया जाता है। प्राथमिक उपचार के बाद उच्च चिकित्सा जांच हेतु अस्पताल भेजा जाता है। इस संयुक्त अभ्यास में एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा मोचन बल), एसडीआरएफ (आपदा मोचन बल), स्थानीय पुलिस, नगर सेना एवं अन्य इकाईयों ने भाग लिया।

कोई जवाब दें