एनटीपीसी प्रबंधन प्रभावित क्षेत्र के युवाओं को एक माह के भीतर नियुक्ति प्रदान करें : कलेक्टर श्री भीम सिंह

0
191
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

रायगढ़, कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आज एनटीपीसी लारा प्लांट के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि एक माह के भीतर प्रभावित क्षेत्रों के 121 युवाओं को नियुक्ति प्रदान करें।

कलेक्टर श्री सिंह ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में एनटीपीसी लारा के कार्यकारी निदेशक श्री संजय मदान, अपर कलेक्टर श्री आर.ए.कुरूवंशी तथा एसडीएम रायगढ़ श्री युगल किशोर उर्वशा तथा क्षेत्र के प्रभावित युवाओं के साथ बैठक लेकर प्रबंधन और प्रभावितों के बीच सहमति नहीं बनने वाले बिन्दुओं की समीक्षा की। एनटीपीसी लारा के प्लांट की स्थापना प्रारंभ होने के 9-10 वर्षाे बाद भी भूमि अधिग्रहण और युवाओं के नौकरी प्रदान करने में हुये विलंब पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए उन्होंने एनटीपीसी के अधिकारियों को निर्देशित किया.

कि राज्य शासन के साथ एमओयू में उल्लेखित प्रावधानों का पूर्ण रूप से पालन किया जाये और ऐसे युवा जिनके पिता और दादा के नाम भूमि दर्ज है उनको छत्तीसगढ़ पुनर्वास नियम के अनुसार स्थानीय प्रशासन तहसीलदार/ एसडीएम द्वारा प्रमाणित युवाओं को शीघ्र नियुक्ति प्रदान करें और पुसौर आईटीआई में युवाओं को प्रशिक्षण की सुविधा उपलब्ध करावे। कलेक्टर ने यह भी निर्देश दिया कि प्लांट से प्रभावित व्यक्तियों के परिवार के सदस्यों के अलावा अन्य नियुक्तियां में भी स्थानीय तथा छत्तीसगढ़ राज्य के उम्मीदवारों को नियुक्ति में प्राथमिकता देवे।

कलेक्टर श्री सिंह ने एनटीपीसी द्वारा प्रभावित क्षेत्रों में प्रारंभ किये गये स्कूलों में प्रभावित परिवारों के बच्चों को अच्छी शिक्षा प्राप्त हो इसके लिये एनटीपीसी द्वारा प्रारंभ किये गये निजी स्कूलों के लिए निर्धारित मासिक और वार्षिक फीस में 50 प्रतिशत कटौती किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर ग्रामीणजन 2 हजार रुपये प्रतिमाह की फीस नहीं वहन कर सकते। इन परिवार के युवाओं को एनटीपीसी से नियुक्ति होने पर वे पूरी फीस चुकाने में सामथ्र्यवान हो सकते है।

उन्होंने एनटीपीसी प्रबंधन के अधिकारियों से कहा कि राज्य शासन की तरफ से पूरा सहयोग प्रदान किया जा रहा है लेकिन एनटीपीसी को भी सामंजस्य स्थापित कर प्रभावित क्षेत्रों के विकास में सहयोग करना होगा और ग्रामीण क्षेत्रों में विस्थापन के बाद ग्रामीणों की मूलभूत आवश्यक सुविधा जैसे सड़क पेयजल, चिकित्सा, शिक्षा इत्यादि की सुविधा विकसित करना होगा जिससे ग्रामीणों में एनटीपीसी के प्रति सदभावना बनी रहे। समीक्षा बैठक में एनटीपीसी के अधिकारी और प्रभावित ग्रामीण अंचल के युवा उपस्थित रहे।

कोई जवाब दें