उपेंद्र कुशवाहा के बयान के समर्थन में रामचंद्र यादव ने लहराया हथियार, बढ़ गया तनाव

0
280
Spread the love

लोकसभा चुनाव 2019 के वोटों की गिनती से पहले राजनीतिक ड्रामा लगातार बढ़ता ही जा रहा है. जनादेश अपने अनुकूल न आने की स्थिति में उपेंद्र कुशवाहा ने हथियार उठाने के संकेत दिए तो उनके समर्थन में पूर्व विधायक व राजद नेता रामचंद्र यादव आ गए हैं.

मतगणना से पहले बिहार की राजनीति में बड़ा उफान आता दिख रहा है। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर देश भर में हंगामा मचा हुआ है। वहीं, महागठबंधन के नेताओं ने तो उनके बयान को इतनी गंभीरता से लिया है कि वे हथियार लहराते दिख रहे हैं। कैमूर में पूर्व विधायक व राजद नेता ने प्रेस कांफ्रेंस कर हथियार लहराया। दावा किया कि महागठबंधन की ओर से इशारा हो तो संविधान बचाने के लिए वे खून बहाने से भी नहीं हिचकेंगे।

रामचंद्र यादव का बयान उपेंद्र कुशवाहा द्वारा मंगलवार को दिए गए बयान की प्रतिक्रिया के रूप में माना जा रहा है। दरअसल, रालोसपा सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा ने कहा था कि एक्जिट पोल के नतीजों के जरिए एक प्रकार से माहौल बनाने की कोशिश हो रही है। अगर रिजल्ट को प्रभावित करने का प्रयास किया गया तो हम हथियार उठाने से भी नहीं हिचकेंगे। इसके बाद सड़कों पर खून की नदियां बहेंगी। इसके लिए पूरी तरह से पीएम नरेंद्र मोदी व राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेदार होंगे।

इस मामले में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का भी बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि खून बहाने की बात कर विपक्ष आखिर क्या कहना चाहता है। क्या जनादेश का सम्मान करने की भावना विपक्ष से चली गई है? वहीं, राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा के बयान को गलत तरीके से लिया जा रहा है। आप उनके कहने के भाव को देखिए।

लोजपा नेता चिराग पासवान ने उपेंद्र कुशवाहा के बयान को शर्मनाक करार देते हुए कहा है कि विपक्ष बेचैनी में ईवीएम पर सवाल उठा रहा है। जहां इनकी सरकार बनती है तो ईवीएम ठीक हो जाता है और जहां सरकार नहीं बनती तो ईवीएम खराब हो जाता है।

कोई जवाब दें