इंटरपोल की चेतावनी, नेताओं को निशाना बनाने को भेजी जा रही ‘कोरोना संक्रमित चिट्ठी’

0
109
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

इंटरपोल ने बताया कि ऐसे भी कुछ मामले सामने आए हैं, जहां राजनेताओं को कोरोना संक्रमित पत्र भेजे गए हैं.

नई दिल्ली: दुनियाभर के 180 से ज्यादा देशों में कोरोनावायरस (Coronavirus) ने हाहाकार मचाया हुआ है. अब इसको लेकर एक बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है. दुनिया के दिग्गज नेताओं और हस्तियों के खिलाफ दुश्मन COVID-19 का इस्तेमाल कर रहे हैं. इंटरपोल ने सभी देशों की प्रमुख एजेंसियों को चेतावनी दी है कि वह ऐसे पत्रों से सतर्क रहें, जो कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं. वैश्विक नेताओं को निशाना बनाने के लिए उन्हें इस तरह के संक्रमित पत्र भेजे जा सकते हैं.

इंटरपोल ने अपने नए दिशा-निर्देशों में भारत समेत कई देशों को सतर्क रहने के लिए चेतावनी दी है. इंटरपोल ने कहा कि ऐसे भी कुछ मामले सामने आए हैं, जहां राजनेताओं को कोरोना संक्रमित पत्र भेजे गए हैं. कोरोना संक्रमित चिट्ठी को अन्य समूहों पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है. हालांकि, इंटरपोल ने ऐसे किसी भी नेता के नाम का जिक्र नहीं किया है, जिसे संक्रमित चिट्ठी भेजी गई हो. इंटरपोल ने बताया कि कुछ लोग संक्रमित सैंपल को ऑनलाइन भी बेच रहे हैं.

इंटरपोल ने कहा कि जो लोग नेताओं या मशहूर हस्तियों की सुरक्षा में तैनात हैं, उन्हें ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. साथ ही डाक विभाग को भी इस जैविक हमले से सतर्क रहने की जरूरत है. इंटरपोल ने अपनी गाइडलाइन में कहा है कि ऐसे भी मामले सामने आए हैं, जब पुलिस अधिकारियों, डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों और जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों पर जान-बूझकर थूका गया. इससे लोगों के कोरोना से संक्रमित होने का जोखिम बढ़ सकता है.

दिशा-निर्देशों में यह भी कहा गया है कि फर्श पर थूककर या किसी के मुंह या वस्तु पर खांसकर संक्रमण फैलाने के प्रयास किए जा रहे हैं. इंटरपोल ने संबंधित विभागों को साइबर अटैक को लेकर भी सावधान रहने को कहा है.

दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर थूकने और सोशल डिस्टेंसिंग नहीं मानने वालों पर भी होगा ये एक्शन

कोई जवाब दें