आरटीआई कार्यकर्ता समेत 9 परिवारवालों पर बम से हमला मौत

0
67
Spread the love
बहराइच। जिले में आरटीआई कार्यकर्ता समेत उसके परिवारवालों पर बम से हमला कर हत्या करने का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि आरटीआई कार्यकर्ता ने समाज कल्याण विभाग से मिलने वाली छात्रवृति के घोटाले का पर्दाफाश किया था।
इसे भी पढ़ें :- दैनिक भास्कर के अफसरों पर कोर्ट ने शुरू की अवमानना कार्रवाई, जेल और जुर्माना होना तय, भास्कर के अफसरों में हड़कंप

कोतवाली देहात स्थित श्यामपुर नदौना गांव का रहनेवाला आरटीआई कार्यकर्ता ओम प्रकाश वर्मा और उनके परिवार के 9 लोगों पर बम से हमला किया गया। सभी एक शादी समारोह में गए थे और जब वहां से वापस लौट रहे थे तो उनपर बम से हमला कर जान से मारने का प्रयास किया गया। इस हमले में 5 महिला समेत 9 लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं। ओम प्रकाश वर्मा की हालत काफी नाजुक है और उन्हें इलाज के लिए लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है। ओम प्रकाश के परिजनों ने आरोप लगाया है कि गांव के राजकुमार यादव नाम के व्यक्ति जो स्कूल का संचालन करते हैं। उन्होंने कहा कि ओम प्रकाश ने आरटीआई के जरिए उसके फर्जीवाड़े का खुलासा किया था तब से वह जान का दुश्मन बना है। इससे पहले भी ओम प्रकाश के ऊपर कुछ दंबंगो से हमला करवाया गया था। वहीं पुलिस ने इस बारे में भरोसा दिलाते हुए जांच का आदेश दिया है।

इसे भी पढ़ें :- अभी छोटी हो, प्रेग्नेंट होकर बड़ी हो जाओगी संबंध बनाते हुए बोला भाई

इसे भी पढ़ें :- मनरेगा शिक्षक-शिक्षिकाओं के पदों पर भी फर्जी नियुक्ति का मामला हुआ उजागर

एसपी सालिकराम वर्मा ने बताया कि कोतवाली क्षेत्र के नदौना निवासी ओमप्रकाश (37) पुत्र जगराम ने गांव में चल रहे विद्यालय में छात्रवृति को लेकर सूचना अधिकार अधिनियम के तहत जानकारी मांगी थी। इसी बात को लेकर विद्यालय प्रबंधक राजकुमार यादव से उनकी रंजिश चल रही थी।

बताया गया कि रविवार को गांव में आयोजित मांगलिक कार्यक्रम दोनों पक्ष मौजूद थे। इस दौरान आरटीआई कार्यकर्ता से प्रबंधक की कहासुनी हो गई और सुनियोजित तरीके से प्रबंधक पक्ष हमलावर हो गया। कई राउंड गोलीबारी हुई हथगोले चलाए गए।

इस घटना में कलावती (50), संदीप (21), रेखा वर्मा (30), मनोज (25), संगीता (25), रामावती (40), पूनम (30), श्याम बिहारी (62) गंभीर रूप से घायल हो। सूचना पर भारी पुलिस बल मौके पर पहुंची।

घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। चिकित्सकों ने ओमप्रकाश की हालत गंभीर देख उसे ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। गांव में सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

कोई जवाब दें