आंगनबाड़ी केन्द्रों का नियमित निरीक्षण करें सीडीपीओ-जिला पंचायत सीईओ श्रीमती त्रिपाठी

0
68
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

  • स्वास्थ्य विभाग के बीपीएम का वेतन रोकने के दिए निर्देश
  • आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से बच्चों एवं महिलाओं का नियमित टीकाकरण करवाएं

रायगढ़. जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती चंदन संजय त्रिपाठी ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में महिला बाल विकास के अंतर्गत जिला स्तरीय अभिसरण समिति की बैठक लेकर सीडीपीओ को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्रों का नियमित निरीक्षण करने के लिए कहा है। साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्मय से बच्चों एवं महिलाओं को प्रदाय किए जाने वाले रेडी टू ईट, गर्म भोजन गुणवत्तायुक्त देने के सख्त निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि निरीक्षण के दौरान आंगनबाड़ी केन्द्रों में अनियमितता पायी जाती है तो तत्काल कार्यवाही की जाएगी। आंगनबाड़ी केन्द्रों के साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान देने के लिए कहा है। बैठक में जानकारी मिली कि स्वास्थ्य विभाग के बीपीएम, गर्भवती माताओं को प्रदाय की जाने वाली फालिक एसिड की ऑनलाईन एन्ट्री गंभीरता से नहीं कर रहे है जिस पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को बीपीएम का वेतन रोकने के निर्देश दिए है। उन्होंन सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में 18 जून को हाथ धुलाई का आयोजन करने के निर्देश दिए है। साथ ही बच्चों के लिए स्वच्छता गतिविधियों भी आयोजित करने के लिए कहा है।

जिला पंचायत सीईओ ने पीएचई के कार्यपालन अभियंता को ग्रामीण क्षेत्रों के पानी में क्लोरीन टेबलेट डालने के लिए कहा है। उन्होंने सीडीपीओ से आंगनबाड़ी केन्द्र में बन रहे शौचालय के स्थिति की जानकारी ली और सभी जनपद सीईओ को अवगत कराते हुए कहा कि चिन्हांकित आंगनबाड़ी केन्द्रो में बनने वाले शौचालय के लिए राशि उपलब्ध करा दी गई है। लंबित शौचालय के कार्य को तत्काल पूर्ण कराए। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को गर्भवती महिलाओं से गृह भेट करने के लिए कहा है। साथ ही सीडीपीओ एवं पर्यवेक्षकों को आंगनबाड़ी केन्द्रों की सतत् निगरानी करके सही रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए है और केन्द्रों में बच्चों एवं महिलाओं का नियमित टीकाकरण करवाने के लिए कहा है। इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री टी.के.जाटवर, एसडीएम, जनपद सीईओ और महिला बाल विकास विभाग के सीडीपीओ उपस्थित थे।

कोई जवाब दें