अभी अभी: कालेधन के खिलाफ मोदी सरकार ने उठाया एक और बड़ा कदम, एकसाथ 300 कंपनियों पर छापेमारी

0
668
Spread the love

ईडी देशभर में ब्लैकमनी के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन चला रहा है। प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी एक साथ 300 फर्जी कंपनियों के ठिकानों पर छापेमारी कर रहे हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, छापेमारी में ईडी ने विश्वज्योति रीयल्टर्स प्राइवेट लिमिटेड, हैदराबाद एवं अन्य कंपनियों की 3.04 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है।

इन पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट (पीएमएलए) के तहत कार्रवाई की गई है। दरअसल, नोटबंदी के बाद पैसे खपाने के लिए फर्जी कंपनियां बनाई गईं अधिकारियों को संदेह है कि इन कंपनियों के जरिए विदेश पैसा भेजा गया है। ईडी के एक अधिकारी के मुताबिक, इन कपंनियों पर नोटबंदी के दौरान संदिग्ध और अवैध लेनदेन में लिप्त होने का संदेह है।

अधिकारी ने कहा, ‘मुंबई, दिल्ली, चेन्नै, बेंगलुरु और कोलकाता समेत विभिन्न शहरों में कई बड़े व्यापारिक घरानों के खिलाफ छापेमारी की जा रही है।’ मनी लॉन्ड्रिंग और विदेशी मुद्रा के अवैध लेनदेन के मामलों की जांच के लिए धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) और विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (एफईएमए) के तहत छापेमारी की जा रही है। फिलहाल, 16 राज्यों के करीब 100 ठिकानों पर छापेमारी की बात सामने आ रही है।

ईडी के सैकड़ों अधिकारी कोलकाता, दिल्ली, बेंगलूरु, मुंबई, चंडीगढ, पटना, हैदराबाद, चेन्नै, कोच्चि आदि में जारी छापेमारी अभियान में जुटे हैं। खबरों की मानें तो अब तक के छापे में अनेक महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हो चुके हैं और कई सौ करोड़ के लेनदेन का ब्योरा मिला है। बताया जा रहा है कि ईडी ने यादव सिंह से जुड़ी फर्जी कंपनियों के ठिकानों पर भी छापेमारी की है। यादव सिंह नोएडा अथॉरिटी के चीफ इंजिनियर रह चुके हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई ने भी कई फर्जी कंपनियों के खिलाफ ईडी की छापेमारी की खबर दी

कोई जवाब दें