अंधी हत्या का खुलासा : महिला ने परेशान होकर 35 हजार रूपये की सुपारी देकर करायी थी हत्या

0
603
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ जबलपुर // प्रशांत वैश्य : 79990 57770

उत्कृष्ट और दक्ष मानव संसाधन की उपलब्धता सबसे बड़ी चुनौती

थाना लार्डगंज में दिनॉक 27-10-19 को मेडिकल कालेज से सूचना मिली थी कि दिनॉक 26-10-19 को रात 10 बजे भूलन के पास मारपीट होने व चाकू लगने से आयी चोटे के कारण अवध नरेश तिवारी उम्र 38 वर्ष निवासी इंद्रा बस्ती साहू मोहल्ला शारदा चौक गढा को सुनील लोधी द्वारा भर्ती कराया गया था जिसकी दौरान उपचार के आज सुबह 5-45 बजे मृत्यु हो गयी है। पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये मर्ग कायम कर जांच मे लिया गया।

जांच के दौरान मृतक अवध नरेश तिवारी को अस्पताल में भर्ती करने वाले एम्बूलेंस के टेक्निनिशयन एवं मृतक जिस स्थान में घायल अवस्था में मिला था उस घर के सामने रहने वाले आकाश विश्वकर्मा से पूछताछ की गयी जिन्होने अवध नरेश तिवारी को एक्सीडेंट में घायल होने के कारण अस्पताल में भर्ती कराना बताया ।

इसे भी पढ़ें :- सीएम पद मांग रही थी शिवसेना, अचानक आ गया एनसीपी का ये बयान और उम्मीदों पर फिरा पानी!

मृतक की पत्नी रानू तिवारी से पूछताछ की गयी, जिसने बताया कि पति अवध नरेश तिवारी मेडिकल कालेज में थोडी देर के लिये होश में आये थे उस दौरान बताया था कि गीता चक्रवर्ती, उसके पति मददू चक्रवर्ती व देवर जगदीश चक्रवर्ती तथा किरायेदार ने भूलन में ले जाकर चाकू से मरवाया है । मृतक की पत्नी के कथन एवं प्राप्त पी एम रिपोर्ट के आधार पर शारदा चौक गढा निवासी श्रीमति गीता चक्रवर्ती ,मददू चक्रवर्ती, जगदीश चक्रवर्ती एवं किरायेदार के विरूद्ध अपराध क्रमांक  525/19 धारा  302,34 ताहि. का कायम किया जाकर विवेचना में लिया गया ।

घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिह (भा.पु.से.) के द्वारा आरोपी की पतासाजी एवं अविलम्ब गिरफ्तारी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर (दक्षिण) डॉ. संजीव उइके के निर्देशन में नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली संभाग श्री दीपक मिश्रा के नेतृत्व में टीम गठित कर लगायी गयी।

इसे भी पढ़ें :- झूठे केस में फंसाने की शाजिस करने वाला थाना प्रभारी सुभाष सुलिया को इंदौर लोकायुक्त पुलिस ने 5 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा

टीम के द्वारा दौरान विवेचना के पतासाजी करते हुये गीता चक्रवर्ती मद्दू चक्रवर्ती, जगदीश चक्रवर्ती से बारिकी से पूछताछ की गयी, गीता चक्रवर्ती ने अवध नरेश तिवारी की हत्या करवाना स्वीकार करते हुये बताया कि वह शराब बेचने का धंधा करती है अवध नरेश तिवारी को पिछले 10-12 साल से जानती है, अवध नरेश तिवारी उर्फ शिवा उसके घर में शराब सप्लाई करता था,  पति मद्दू चक्रवर्ती की दिमागी एवं शारीरिक हालत ठीक न होने व हमेशा बीमार रहने से अवध नरेश तिवारी उर्फ शिवा से उसके प्रेम संबध बन गये, शिवा उसके घर में रात में छिप-छिप कर आकर मिलने लगा।

यह बात जब बच्चों व परिवार वालो को पता चली तो सभी इस बात का विरोध करने लगे व घर में झगडा होने लगा तो उसने अवध नरेश तिवारी को घर आने से मना कर दिया, घर वालों ने भी अवध नरेश तिवारी को कई बार समझाया कि घर मत आया करो, लेकिन शिवा नहीं  माना व हमेशा शराब पीकर घर के बाहर आकर खडा हो जाता तथा गालीगलौज करते हुये अपने साथ चलने को कहता था वह शिवा से बहुत परेशान हो गयी थी।

इसे भी पढ़ें :- अवैध शराब बिक्री के खिलाफ छिड़ गई जंग, शराबी करते है महिलाओ को परेशान

परेशान होकर उसने शिवा को मरवाने की ठान ली तथा एक-दो परिचित लोगो से चर्चा की पर वे तैयार नही हुये तो उसने देवर के यहां किराये से रहने वाले 17 वर्षिय लडके शेरा खान (काल्पनिक नाम) जो अपराधी प्रवृत्ति का है, से अवध नरेश उर्फ शिवा तिवारी को जान से मारने की बात की क्योकि पूर्व में शिवा उर्फ अवध नरेश तिवारी का शेरा खान (काल्पनिक नाम)  के साथ वाद विवाद हुआ था, इस बात को लेकर शेरा खान (काल्पनिक नाम)  हमेशा अवध नरेश तिवारी को जान से मारने की बात करता था। शेरा खान (काल्पनिक नाम)  ने उससे कहा कि 50 हजार रूपये लगेगें.

इसे भी पढ़ें :- देश के सभी पत्रकारों के लिए केंद्र सरकार का तोहफा, ‘पत्रकार वेलफेयर स्कीम’ में हुआ संशोधन

बताचीत के दौरान शेरा खान (काल्पनिक नाम) से 35 हजार में मारने की बात तय हुई तो शेरा खान (काल्पनिक नाम) ने अवध नरेश उर्फ शिवा तिवारी से दोस्ती कर ली और दिनांक 26.10.19 को रात 08.  बजे जब अवध नरेश तिवारी मोहल्ले में आटो लेकर आया तो शेरा खान (काल्पनिक नाम)  उसे सामान ले जाने के बहाने आटो सहित भूलन ले गया और  वहां से वापस लैटकर बताया कि  शिवा को उसने चाकू मार दिया है। दूसरे दिन पता चला की अवध नरेश तिवारी की मेडिकल में मौत हो गई है। तो दूसरे दिन शेरा खान (काल्पनिक नाम) को 35 हजार रूपये वादे के मुताबिक दे दिये है।

शेरा खान (काल्पनिक नाम)  की तलाश कर अभिरक्षा मे लेते हुये पूछताछ की गई जो जुर्म स्वीकार करते हुये घटना दिनांक को शिवा को चाकू से मारना स्वीकार किया एवं गीता चक्रवर्ती द्वारा दिये गये रूपयो में से कुछ रूपये कपडे, जूता खरीदने एंव खाने पीने में खर्च होने के बाद शेष बचे 31 हजार रूपये घर की अलमारी में रखना एवं चाकू को घर के रैक में छुपाकर रखना बताने पर शेरा खान (काल्पनिक नाम) की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त चाकू एवं शेष बचे 31 हजार रूपये जप्त किये गये ।

इसे भी पढ़ें :- आप विधायक अखिलेश त्रिपाठी हिरासत में लिए गए, यह रही बड़ी वजह

प्रकरण की विवेचना में अभी तक गीता चक्रवर्ती एवं शेरा खान (काल्पनिक नाम)  के द्वारा अपराध घटित करना पाया गया है। मद्दू चक्रवर्ती एवं जगदीश चक्रवर्ती की अपराध में संलिप्पतता नही पाई जा रही है। श्रीमति गीता चक्रवर्ती एवं 17 वर्षिय शेरा खान (काल्पनिक नाम) द्वारा अपराध घटित करना पाये जाने पर आज दिनांक 01.11.19 को गिरफ्तार किया गया है।     उल्लेखनीय भूमिका- थाना प्रभारी लार्डगंज श्री मधुर पटेरिया, उप निरीक्षक अनिल मिश्रा, पीएसआई गनपत लाल मसकोले, प्रधान आरक्षक अभय नोरिया, भृगुराशान, प्रशांत सोलंकी, आरक्षक राजीव सिह, विकास सिह, राजेश बडगैया, मनीष ठाकुर ,राकेश उपवन, संतोष कुमार की सराहनीय भूमिका रही।

थाना लार्डगंज  अप क्र- 525/19 धारा 302, 34,  भा.द.वि.

नाम मृतक- अवध नरेश तिवारी उर्फ शिवा पिता रामकुमार उम्र 38 वर्ष निवासी इंद्रा बस्ती साहू मोहल्ला शारदा चौक

गिरफ्तार आरोपी – 1-  श्रीमति गीता चक्रवर्ती पति मद्दू चक्रवर्ती उम्र 40 वर्ष निवासी शारदा चौक गढा
2-   17 वर्षिय किशोर

जप्ती-  घटना मे प्रयुक्त चाकू, एवं हत्या करने हेतु दिये हुये 35 हजार रूपयों में से शेष बचे 31 हजार रूपये जप्त।

कोई जवाब दें